कंपनियों की अर्नेस्ट मनी एनआईसी की वेबसाइट पर नहीं हो सकी जमा, कारण उसमें 20 लाख से ज्यादा का नहीं है प्रावधान

0
1


  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Ernest Money Of Companies Could Not Be Deposited On NIC Website, Because There Is No Provision Of More Than 20 Lakhs In It.

चंडीगढ़19 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • {वॉटर सप्लाई मनीमाजरा के 162 करोड़ रुपए का है यह पायलट प्रोजेक्ट {पहले इस टेंडर की प्री बिड में आई थी छह कंपनियां

24×7 वाॅटर सप्लाई मनीमाजरा के 162 करोड़ 90 लाख के पायलट प्रोजेक्ट के टेंडर में इस बार भी कोई कंपनी बिड भरने तक नहीं पहुंची। हालांकि टेंडर की प्री बिड में छह कंपनियां आई थी। इस बार एनआईसी साइट ई टेंडर पर 20 लाख से ज्यादा ऑन लाइन ईयरनेस्ट मनी भरने का प्रावधान नहीं होने की वजह से कंपनी बिड भरने से रह गई हैं। अब ईयरनेस्ट मनी ऑफ लाइन जमा करवाने के लिए स्मार्ट सिटी की टेक्निकल कमेटी में एजेंडा लेकर जाया जाएगा। पहले तीन बार टेंडर में नहीं आई कंपनी, जॉइंट वेंचर कंडीशन की शामिल: स्मार्ट सिटी लिमिटेड की ओर से मनीमाजरा 24×7 वाटर सप्लाई के पायलट प्रोजेक्ट के लिए पहले तीन बार टेंडर लगाए गए हैं।

मगर तीनों ही बार टेंडर में कोई कंपनी नहीं आई। इसकी वजह 15 साल की मेंटेनेंस एंड ऑपरेशन और प्रोजेक्ट कॉस्ट कम होने से बड़ी कंपनी टेंडर में पार्टिसिपेट करने नहीं पहुंची। वहीं जॉइंट वेंचर में कंपनी इस लिए नहीं आगे आई, क्योंकि टेंडर कंडीशन में जॉइंट वेंचर शामिल नहीं था। तीन बार कंपनी नहीं आने पर चंडीगढ़ स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने टेंडर कंडीशन में जॉइंट वेंचर को शामिल करवाया । इसकी टेक्निकल कमेटी से अप्रूवल ली गई। इसके बाद ही टेंडर लगाया। टेंडर की प्री बिड में छह कंपनी आई। उनकी कुछ ऑब्जर्वेशन थी जिन्हें टेक्निकल कमेटी में अप्रूव करवाकर टेंडर डॉक्यूमेंट में शामिल किया गया।

टेक्निकल कमेटी में लाया जाएगा एजेंडा…चंडीगढ़ स्मार्ट सिटी लिमिटेड के असफरों के अनुसार मनीमाजरा की 24×7 वाटर सप्लाई करने के पायलट प्रोजेक्ट के टेंडर में कंपनी बिड नहीं भर सकी। इसकी वजह एनआईसी की ऑन लाइन वेब पर ईयरनेस्ट मनी में 20 लाख से ज्यादा भरने का प्रावधान नहीं होना रहा है। अब स्मार्ट सिटी की टेक्निकल कमेटी में एजेंडा लाया जाएगा। उसमें 20 लाख से ज्यादा ईयरनेस्ट मनी ऑफ लाइन भरे जाने की अप्रूवल ली जाएगी।

2577 मीटर और वॉटर लाइन बिछाई जानी है…मनीमाजरा में 24×7 वाॅटर सप्लाई के करने के प्रोजेक्ट में मौजूदा वाॅटर लाइन के अलावा 2577 मीटर और वाॅटर लाइन बिछाई जानी है। मौजूदा वाॅटर सप्लाई के सिस्टम के अलावा अब 6 यूजीआर (अंडर ग्राउंड रिजर्वायर) और 1.30 एमजीडी का शिवालिक गार्डन के पास ओवर हेड रिजवायर (वाॅटर वर्क्स) और बनाने हैं। पानी सप्लाई के लिए मनीमाजरा में सकाडा (सुपरवाइजरी कंट्रोल डाटा एक्यूजेशन) बनाया जाना है। जहां पर कर्मचारी बैठकर मनीमाजरा की पानी सप्लाई को चेक कर सकता है। लाइन लीकेज होने या लो प्रेशर संबंधी कोई भी प्रॉब्लम्स होगी। इसका स्काडा में बैठे कर्मचारी को पता चलेगा। वह तुरंत एरिया जेई को मैसेज करेगा। ताकि वह संबंधित एरिया की लाइन को समय रहते ठीक करवा सके। इस स्काडा को बाद में चंडीगढ़ के स्काडा से जोड़ा जाना है।



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here