एक बार फिर कालाबाजारी: ब्लैक फंगस का इंजेक्शन बाजार से गायब, पीजीआई में भी बचा सीमित स्टाॅक, यूपी, उत्तराखंड; दिल्ली से लेने आ रहे लाेग

0
1


  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Black Fungus Injection Disappears From Market, Limited Stock Left In PGI, UP, Uttarakhand; People Coming From Delhi

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चंडीगढ़3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

काेविड से पीड़ित डायबिटीज के 90 फीसदी मरीजाें में ब्लैक फंगस की बीमारी हाे रही है। इस बीमारी में कारगर एंटी फंगल इंजेक्शन एंफाेटेरासिन-बी लिपाेसाेमल शहर में कैमिस्ट शाॅप से गायब हाे गया है। पीजीआई में फिलहाल इस इंजेक्शन का स्टाॅक है, लेकिन यह भी ज्यादा दिन का नहीं बचा है।

पीजीआई में राेजाना 150 इंजेक्शन इस बीमारी के मरीजाें काे लगाए जा रहे हैं। ऐसे ही हालात रहे ताे पीजीआई में इस बीमारी के मरीजाें काे भी यह इंजेक्शन मिलना मुश्किल हाे सकता है। कैमिस्ट इस इंजेक्शन की शाॅर्टेज की बात कर रहे हैं। यह भी कहा जा रहा है कैमिस्ट ने इस इंजेक्शन का स्टाॅक कर लिया है।

पीजीआई के एक डाॅक्टर बताया कि एंफाेटेरासिन-बी का एक प्लेन इंजेक्शन आता है। यह इंजेक्शन बजार में 270 रुपए का मिल जाता है। पिछले हफ्ते तक यह इंजेक्शन बाजार में था। लेकिन अब यह इंजेक्शन भाी बाजार से गायब हाेता जा रहा है। चूंकि एंफाेटेरासिन-बी लिपाेसाेमल की शाॅर्टेज है ताे डाॅक्टर एंफाेटेरासिन-बी प्लेन इंजेक्शन से ही काम चल रहे हैं।

उत्तराखंड, यूपी और दिल्ली तक से इंजेक्शन खरीदने आ रहे हैं लाेग

बुधवार काे सेक्टर-11 स्थित एक कैमिस्ट शाॅप पर ऋषिकेश एम्स में दाखिल अपने रिश्तेदार काे ब्लैक फंगस हाेने पर एंफाेटेरासिन-बी इंजेक्शन खरीदने के लिए चंडीगढ़ आया। डॉक्टर कह रहे हैं कि इस इंजेक्शन से किडनी इंफेक्शन हाेने का खतरा रहता है। मजबूरी में मरीजाें काे ठीक करने के लिए इंजेक्शन का इस्तेमाल कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here