इस दिवाली-दशहरे पर अपनी कार से जा रहे हैं घर, तो जानिए FASTag से जुड़े जरूरी नियम

0
2


नई दिल्ली. देश में हर गाड़ी में फास्टैग (FASTag) जरूरी हो गया है. इतना ही नहीं अब इसे आपकी गाड़ी के इंश्योरेंस के साथ भी जोड़ा जा रहा है. फास्टैग 1 दिसंबर 2017 से पहले की गाड़ियों में अनिवार्य होगा. ये नियम जनवरी 2021 से लागू हो रहा है. अप्रैल 2021 से थर्ड पार्टी बीमा के लिए भी फास्टैग जरूरी होगा. अब तक करीब 1.5 करोड़ FASTag बिके हैं. 2017 से रजिस्ट्रेश के लिए फास्टैग अनिवार्य है. ट्रांसपोर्ट वाहनों के फिटनेस सर्टिफिकेट के लिए FASTag जरूरी है. अगर आपने अपनी गाड़ी 1 दिसंबर, 2017 से पहले खरीदी है तो अगले साल से आपके लिए FASTag लेना अनिवार्य होगा. नई गाड़ियों के लिए पहले से ही फास्टैग अनिवार्य है. साथ ही 3rd पार्टी बीमा लेने के लिए भी FASTag को अनिवार्य किया गया है.

1. क्या है FASTag- फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है. इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) का इस्तेमाल होता है. इस टैग को वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है. जैसे ही आपकी गाड़ी टोल प्लाजा के पास आती है, तो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर आपके वाहन के विंडस्क्रीन पर लगे फास्टैग को ट्रैक कर लेता है. इसके बाद आपके फास्टटैग अकाउंट से उस टोल प्लाजा पर लगने वाला शुल्क कट जाता है. इस तरह आप टोल प्लाजा पर रुके बगैर शुल्क का भुगतान कर पाते हैं. वाहन में लगा यह टैग आपके प्रीपेड खाते के सक्रिय होते ही अपना काम शुरू कर देगा. वहीं, जब आपके फास्टैग अकाउंट की राशि खत्म हो जाएगी, तो आपको उसे फिर से रिचार्ज करवाना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें: घर के सुकून में इन 6 आसान स्टेप्स के जरिए पूरे परिवार के साथ खरीदें अपनी फेवरेट होंडा की कार

2. कहां से लें सकते हैं FASTag- FASTag को किसी भी प्वाइंट ऑफ सेल (POS) लोकेशन पर जाकर बैंक से ऑफलाइन खरीदा जा सकता है. हालांकि, लंबी कतारों में लगने और समय बचाने के लिए इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना आसान है. हालांकि, FASTag आवेदन करने की प्रक्रिया विभिन्न बैंकों में थोड़ी अलग होती है. फिर भी आवेदन की मुख्य बातें सभी में समान रहती हैं. आपके सभी FASTag लेनदेन के लिए आपको एसएमएस और ईमेल अलर्ट मिलेंगे.3. FASTag प्रीपेड खाता खोलने की प्रक्रिया- FASTag प्रीपेड खाता खोलने के लिए बैंक की ऑनलाइन FASTag एप्लिकेशन वेबसाइट पर जाएं. FASTag अकाउंट की खातिर ऑनलाइन आवेदन के लिए बैंक के साथ संबंध होना जरूरी नहीं है. निजी विवरण जैसे नाम, पता, जन्मतिथि, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, आदि भरें. केवाईसी दस्तावेज विवरण (ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र, या आधार कार्ड) दर्ज करें. वाहन पंजीकरण विवरण दर्ज करें. वाहन पंजीकरण का मतलब वाहन के रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) नंबर से है. सभी आवश्यक दस्तावेजों की स्कैन कॉपी अपलोड करें. इनमें केवाईसी दस्तावेज, वाहन मालिक की 1 पासपोर्ट साइज फोटो और आरसी शामिल हैं.

4. कैसे चेक करें FASTag बैलेंस-
हर बैंक में एक FASTag पोर्टल होता है, जहां आप लॉग इन कर सकते हैं और अपने खाते का बैलेंस चेक कर सकते हैं. लॉगिन प्रक्रिया हर बैंक के लिए अलग होती है लेकिन एक बार लॉग इन करने के बाद, आप अपने खाते का विवरण देख सकते हैं.

ये भी पढ़ें: त्योहारों पर इन 5 गलतियों के कारण रद्द हो सकता है आपका ड्राइविंग लाइसेंस, जानिए सब कुछ

5. यहां मिस्ड कॉल अलर्ट से भी जान सकते हैं बैलेस
भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) ने उपयोगकर्ताओं के लिए FASTag बैलेंस की जांच करने के लिए ‘मिस्ड कॉल अलर्ट सुविधा’ की शुरुआत की है. जिन लोगों ने NHAI प्रीपेड वॉलेट के साथ अपना मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड किया है, वे टोल-फ्री नंबर +91-8884333331 पर मिस्ड कॉल देकर बैलेंस चेक कर सकते हैं. जिन उपयोगकर्ताओं ने अपने FASTags को अन्य प्रीपेड वॉलेट से जोड़ा है, वे इस सुविधा का लाभ नहीं उठा पाएंगे





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here