इलाज में लापरवाही का आरोप: जालंधर में कोरोना रोगी की मौत पर CAREMAX अस्पताल में हंगामा, बहस के बाद हाथापाई की नौबत आई

0
1


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जालंधर2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

मरीज के परिजनों व स्टाफ के सदस्य से पूछताछ करती पुलिस।

जालंधर में मिशन चौक के नजदीक CAREMAX अस्पताल में बुधवार शाम को जमकर हंगामा हो गया। कोरोना रोगी की मौत के बाद परिजनों ने इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। हालात इस कदर बिगड़े कि मौके पर पुलिस बुलानी पड़ी। पुलिस के सामने ही मृतक के परिजनों व अस्पताल के स्टाफ में हाथापाई तक की नौबत आ गई। हालांकि पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाया और इसके बाद कार्रवाई का भरोसा दिया। पुलिस ने दोनों पक्षों को थाने बुलाया है, जहां उनके बयान दर्ज कर अगली कार्रवाई की जाएगी।

आपस में बहस करते मरीज के परिजन व अस्पताल स्टाफ

आपस में बहस करते मरीज के परिजन व अस्पताल स्टाफ

सही ढंग से ऑक्सीजन नहीं दी, डॉक्टर को बुलाने की मांग पर अड़े परिजन

अभिषेक व आशीष ने बताया के उनके परिजन राजीव शर्मा कोरोना पॉजिटिव थे। उनका इलाज सिविल अस्पताल में चल रहा था। वहां रिकवरी कम होने पर वो इसे इस अस्पताल में ले आए। यहां पर उनका सही ढंग से इलाज नहीं हुआ। उन्हें सही ढंग से ऑक्सीजन नहीं लगाई गई। वो बार-बार डॉक्टर को कहते रहे कि ऑक्सीजन सही ढंग से नहीं दी जा रही तो वो भड़ककर कहने लगे कि मैं डॉक्टर हूं, मुझे सब पता है। बुधवार सुबह मरीज की हालत सही थी लेकिन बाद में उनकी मौत हो गई। हर रोज उनसे इलाज के लिए 25 हजार रुपए लिए जा रहे थे। मरीज बार-बार इलाज करने वाले डॉक्टर अनिल को बुलाने की बात कह रहे थे।

पुलिस के सामने ही बहस से हाथापाई की नौबत

हंगामे की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने दोनों पक्षों की बात सुनी लेकिन मामला ठंडा नहीं हुआ। इसके बाद दोनों पक्ष एक-दूसरे से ऊंची आवाज में बात करने लगे। जिससे माहौल काफी गर्मा गया। पुलिस के सामने ही बहस से लेकर बात हाथापाई की नौबत तक पहुंच गई। हालांकि किसी तरह मामले को संभाला गया।

इलाज सही हुआ, नाइट ड्यूटी की वजह से डॉक्टर का मोबाइल बंद

CAREMAX अस्पताल के एडमिनिस्ट्रेटर हरप्रीत सिंह ने कहा कि इलाज सही ढंग से किया गया। इसमें कोई लापरवाही नहीं बरती गई। उन्होंने कहा कि जिस डॉक्टर अनिल को बुलाने की बात कह रहे हैं, वो रात की ड्यूटी करके गए थे। इसलिए उनका मोबाइल स्विच ऑफ था। हमारे पास कोई दूसरा कांटेक्ट नंबर नहीं है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here