इंक्रोचमेंट हटाओ अभियान: मीटिंग जारी; जुर्माना बढ़ाया, लेकिन ज्यादातर पुराने फैसलों को ही दोहराया

0
6


पंचकूलाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
  • 17 दिन पहले हुई मीटिंग में दिए निर्देशों पर कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं हुई

हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण, पंचकूला नगर निगम और पुलिस विभाग को 17 दिन पहले हुई मीटिंग में इंक्रोचमेंट हटाने के दिए गए निर्देशों पर कोई प्रभावी कार्रवाई न होने पर हरियाणा विधानसभा स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता की ओर से शुक्रवार को दोबारा मीटिंग बुलाई गई। इस मीटिंग में सरकारी जमीन पर कब्जा करने वालों से वसूला जाने वाला जुर्माना बढ़ाने और सामान जब्त करने का फैसला लिया गया।

मीटिंग में बताया कि इंक्रोचमेंट टीम में 24 लोग शामिल है और 20 दिनों में 72 चालान किए गए हैं। इस पर विधानसभा स्पीकर ने कहा कि इतने दिनों में एक व्यक्ति ने एवरेज तीन ही चालान किए हैं जोकि काफी कम हैं। इसमें फैसला हुआ कि अगर किसी सेक्टर में दोबारा इंक्रोचमेंट होती है तो इसके लिए उस एरिया में नगर निगम, एचएसवीपी के जेई और पुलिस चौकी इंचार्ज जिम्मेवार होगा।

इसके लिए उन पर कार्रवाई होगी। डिप्टी कमिश्नर विनय प्रताप सिंह अब इंक्रोचमेंट अभियान का नेतृत्व करेंगे। एचएसवीपी, नगर निगम और पुलिस विभाग से कोऑर्डिनेट कर इंक्रोचमेंट अभियान चलाएंगे। पंचकूला नगर निगम में डिप्टी म्युनिसिपल कमिश्नर अमन ढांडा ने इसके बाद एमसी ऑफिस में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि नगर निगम शनिवार से बड़े स्तर पर एन्क्रोचमेंट हटाने को लेकर अभियान शुरू करने जा रहा है। परमानेंट या टेंपरेरी एन्क्रोचमेंट करने वाले रेहड़ी वालों और दुकानदारों पर कार्रवाई की जाएगी।

बताया कि पंचकूला डीसीपी ने विश्वास दिलाया है कि शनिवार से पुलिस की एक टीम को नगर निगम के साथ इंक्रोचमेंट हटाने के काम में लगाया जाएगा। इसके साथ ही जिस भी सेक्टर में इंक्रोचमेंट हटाने का कार्य चल रहा होगा उसी सेक्टर से संबंधित थाना प्रभारी भी इंक्रोचमेंट हटाने में निगम की टीम काे जरूरत पड़ने पर सहयोग करेंगे।

अमन ढांडा ने बताया कि इंक्रोचमेंट हटाए जाने को लेकर नगर निगम ने एक टीम बनाई है जिसमें संबंधित एरिया के जेई की भी जिम्मेदारी लगाई। उन्होंने कहा कि इंक्रोचमेंट लगने की जिम्मेदारी उसी एरिया के जेई की होगी। यदि इंक्रोचमेंट होती है तो इसकी जवाबदेही भी जेई की होगी। वहीं, सैनिटाइजेशन की टीम को अब इंफोर्समेंट टीम के साथ जोड़ा गया है।

22 जून को हुई मीटिंग के फैसले

  • एचएसवीपी मार्केट में दुकानदारों की ओर से किए अवैध कब्जों को हटाएगा। जगह-जगह बनी झुग्गी झोपड़ी को हटाने का जिम्मा भी सौंपा था।
  • पंचकूला नगर निगम को सरकारी जमीन पर लगने वाली रेहड़ी-फड़ी हटाने का जिम्मा सौंपा गया था।
  • एचएसवीपी और निगम की ओर से चलाए जाने वाले इंक्रोचमेंट हटाओ अभियान के दौरान पुलिस फोर्स मुहैया कराई जाएगी।
  • सभी विभागों को मिलकर बड़े स्तर पर सरकारी जमीन से अवैध कब्जे हटाने का अभियान चलाने के निर्देश दिए थे।

आज से 1000 रुपए का जुर्माना लगेगा

डिप्टी म्युनिसिपल कमिश्नर ने कहा कि पहले 500 रुपए जुर्माना लगता था। अब 1000 से लेकर 5000 रुपए तक जुर्माना लगाया जाएगा। शनिवार से जो भी व्यक्ति इंक्रोचमेंट करता मिला तो पहली बार उस पर 1000 रुपए का जुर्माना लगेगा।

दूसरी बार अगर वहीं व्यक्ति फिर से इंक्रोचमेंट करता मिला तो उससे 2500 रुपए जुर्माना लिया जाएगा। तीसरी बार यदि वहीं व्यक्ति इंक्रोचमेंट करता पाया जाता है तो उस व्यक्ति से 5000 रुपए जुर्माना लगाने के साथ ही उसका सारा सामान भी जब्त कर लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here