आसाराम को बेल पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई कल, आयुर्वेदिक इलाज कराने के लिए चाहता है जमानत

0
4


आसाराम की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई कल. (फाइल फोटो)

जेल में बंद आसाराम की अंतरिम जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को सुनवाई होगी. राजस्थान सरकार के साथ पीड़िता के पिता ने भी सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर आसाराम की जमानत का विरोध किया है.

जोधपुर. जेल में बंद आसाराम की अंतरिम जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को सुनवाई होगी. आसाराम की जमानत का राजस्थान सरकार विरोध कर चुकी है, इस बीच पीड़िता के पिता ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर आसाराम की जमानत का विरोध किया है. अब आसाराम की याचिका के साथ पीड़िता के पिता की याचिका की भी सुनवाई होगी. अपने गुरुकुल की नाबालिग छात्रा के साथ यौन उत्पीड़न के मामले में जीवन की आखिरी सांस तक जेल की सजा काट रहे आसाराम ने जमानत लेने के लिए अनगिनत याचिकाएं अधीनस्थ न्यायालय से लेकर सुप्रीम कोर्ट में पेश की थी, लेकिन आसाराम को कहीं भी राहत नही मिली.

आसाराम को कोरोना संक्रमण होने के बाद उसे जोधपुर के महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां से उसे एम्स भेजा गया था, लेकिन आसाराम ने एलोपैथी चिकित्सा पद्धति से इलाज करवाने से मना करते हुए हाईकोर्ट में एक याचिका पेश कर अंतरिम जमानत की मांग की थी, लेकिन हाईकोर्ट ने उसे राहत नहीं दी. इसके बाद आसाराम की ओर से सुप्रीम कोर्ट में आयुर्वेद पद्धति से इलाज करवाने के लिए अंतरिम जमानत मांग को लेकर एक याचिका पेश की. शुक्रवार को आसाराम की याचिका पर सुनवाई होनी है.

पीड़िता के पिता ने आसाराम की जमानत का किया विरोध

आसाराम के मामले में शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी लेकिन इस बीच पीड़िता के पिता ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका में जमानत का विरोध करते हुए यह मांग की है कि आसाराम को जमानत नहीं दी जाए यदि आसाराम को जमानत मिली तो उसके परिवार को जान का खतरा है.राज्य सरकार ने कानून व्यवस्था का हवाला देकर किया बेल का विरोध

आसाराम की याचिका के दौरान राज्य सरकार ने हलफनामा पेश कर आसाराम की जमानत का विरोध किया राज्य सरकार ने पक्ष रखते हुए बताया कि आसाराम के समर्थक कानून व्यवस्था बिगाड़ देंगे. साथ ही जोधपुर में राष्ट्रीय स्तर के दोनों पद्धति के इलाज उपलब्ध हैं. जहां एक और एलोपैथी पद्धति किसे इलाज करने वाला ऐप्स मौजूद हैं, तो वहीं दूसरी और आयुर्वेद पद्धति से इलाज करने के लिए राष्ट्रीय स्तर का आयुर्वेद विश्वविद्यालय का अस्पताल भी है. राज्य सरकार ने आरोप लगाया है कि आसाराम इलाज के नाम पर जगह बदलने की फिराक में है.









Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here