अहमदाबाद में 7 लाख लोगों को दी जाएगी कोरोना की वैक्सीन, इस तरह की गई पहचान

0
2


ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को टीका लगाने के लिए 324 लोगों की पहचान की गयी है जबकि इस क्षेत्र के ऐसे 7,435 स्वास्थ्यकर्मियों की पहचान की गयी है (सांकेतिक तस्वीर)

Coronavirus Vaccine: अहमदाबाद में कोरोना के टीके के लिए सर्वेक्षण का काम पूरा हो गया है. इस सर्वेक्षण को लेकर दिलचस्प विवरण सामने आए हैं. जानिए कैसे और किस की सिस्टम ने टीकाकरण के लिए पहचान की है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 23, 2020, 11:59 PM IST

अहमदाबाद. अहमदाबाद (Ahmedabad) ज़िला और नगर निगम के अधिकारियों ने अहमदाबाद शहर और ग्रामीण क्षेत्र में एक महीने के सर्वेक्षण कार्य के बाद 7 लाख से ज़्यादा ऐसे लोगों का पंजीकरण किया है ताकि इनमें से ऐसे लोगों की पहचान की जा सके जिनको कोविड-19 (Covid-19) से सबसे ज़्यादा ख़तरा है. इस सर्वेक्षण में 704 ऐसे लोगों की पहचान की गई है जिनको सबसे पहले टीका लागाया जाएगा. इनमें 324 लोग ग्रामीण क्षेत्र के हैं.

अहमदाबाद नगर निगम के अधिकारियों ने 52,000 स्वास्थ्यकर्मियों एवं ज़रूरी सेवाएं देनेवाले अन्य लोगों की पहचान की है जिसमें 40,000 पुलिस और सुरक्षाकर्मी भी हैं जिन्हें पहले दौर में टीका लगाया जाएगा. ये ऐसे लोग हैं जिनको टीका लगाना सबसे ज़्यादा ज़रूरी है. नगर निगम ने ऐसे चार लाख ऐसे लोगों की पहचान भी की है जो 50 साल से ऊपर के हैं और जिनकी स्वास्थ्य की स्थिति ऐसी है कि उन्हें लंबे समय तक स्वास्थ्य देखभाल की ज़रूरत है.

ये भी पढ़ें- 4 करोड़ SC छात्रों को होगा इस स्कॉलरशिप योजना का लाभ, सीधा खाते में आएंगे पैसे

विरोध का भी करना पड़ रहा है सामनाएएमसी के एक स्वास्थ्य अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि फ़ील्ड में सर्वेक्षण करनेवालों को टीकाकरण के लिए योग्य लोगों के पंजीकरण के क्रम में विरोध का सामना करना पड़ा. यह विरोध वैसा ही है जैसा हमें खसरा और रुबेला टीकाकरण के दौरान 2018 में सामना करना पड़ा था जब लोगों ने हमें कहा था कि इस टीके में सूअर का मांस मिला हुआ है. इस तरह की बातें समय के साथ आगे बढ़ती रहती हैं.

अभी भी कुछ लोग अपना नाम पंजीकृत कराने से यह कहते हुए मना कर रहे हैं कि इससे उनके स्वास्थ्य पर उल्टा असर पड़ेगा. इस टीकाकरण कार्यक्रम का आयोजन ‘तंत्र’ ने अहमदाबाद में 300 स्थानों पर तय किया है और यहां टीका देनेवाले 380 लोगों की भी पहचान की गयी है. अहमदाबाद शहर की जनसंख्या 60 लाख है.

ये भी पढ़ें- NIA ने खालिस्तानी आतंकी गुरजीत सिंह निज्जर को दिल्ली एयरपोर्ट से किया गिरफ्तार

ज़िला कलेक्टर संदीप सांगले ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को टीका लगाने के लिए 324 लोगों की पहचान की गयी है जबकि इस क्षेत्र के ऐसे 7,435 स्वास्थ्यकर्मियों की पहचान की गयी है जिनको ज़्यादा ख़तरा है और उन्हें वरीयता आधार पर टीके लगाए जाएंगे. उन्होंने कहा कि 18,000 से अधिक रक्षाकर्मियों और पुलिसकर्मियों की अहमदाबाद ग्रामीण क्षेत्र में पहचान की गयी है जिनको दूसरे चरण में टीके लगाए जाएंगे.





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here