अक्टूबर में रेलवे माल ढुलाई से कमाई 11% बढ़ी, इसमें सीमेंट और कोल सेगमेंट की भागीदारी 50% से अधिक

0
1


  • Hindi News
  • Business
  • Ndian Railways News: Indian Railways Revenue Freight Earnings In October 2020

नई दिल्ली11 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • 13 अक्टूबर तक रेलवे ने 19.13 मीट्रिक टन कोयला ढोया
  • सितंबर में सीमेंट ढुलाई का वॉल्यूम 4.36 मीट्रिक टन का रहा

अक्टूबर में माल ढुलाई से रेलवे की आय 4,124 करोड़ रुपए हो गया है। यह सालाना आधार पर 11% अधिक है। इसी दौरान वॉल्यूम भी 18% बढ़कर 43.46 मीट्रिक टन हो गया है। इसमें अनाज, कोयला, स्टील, सीमेंट और अन्य शामिल है। यह सभी आंकड़े 13 अक्टूबर तक के हैं।

रेलवे माल ढुलाई

सरकारी डेटा के मुताबिक, माल ढुलाई में सीमेंट और कोल सेगमेंट की भागीदारी 50% से अधिक है। 13 अक्टूबर तक रेलवे ने 19.13 मीट्रिक टन कोयला ढोया, जो पिछले साल 17.20 मीट्रिक टन रहा था। सितंबर में सीमेंट ढुलाई का वॉल्यूम 4.36 मीट्रिक टन का रहा, जो पिछले साल की समान अवधि में 3.28 मीट्रिक टन रहा था।

अक्टूबर में 126 ऑटो मोबाइल रैकों की ढुलाई हुई, जो पिछले साल की समान अवधि में 74 रैक रही थी। रेलवे मंत्रालय के मुताबिक, अक्टूबर में प्रति दिन औसतन 53,774 डिब्बों की लोडिंग हुई है। डेटा के मुताबिक, कोरोना के बीच माल ढुलाई और उससे होने वाली कमाई में वृद्धि अगस्त महीने से दिखाई दे रही है।

कोरोना महामारी का असर

इससे पहले चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में कोरोना महामारी के कारण माल ढुलाई और उससे होने वाली कमाई में गिरावट दर्ज की गई थी। डेटा के मुताबिक, सालाना आधार पर अप्रैल-सितंबर के दौरान माल ढुलाई 9% गिरकर 533 मिट्रिक टन हो गई थी। इससे होने वाली कमाई भी 17% फिसलकर 50,185 करोड़ रुपए के स्तर पर आ गई थी।

अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत

रेलवे माल ढुलाई को बड़ा आर्थिक मापदंड माना जाता है। क्योंकि यह आर्थिक गतिविधियों के वास्तविक हालात को दर्शाता है। सरकार ने अक्टूबर के शुरुआत में ही कहा था कि सितंबर महीने में आर्थिक सुधारों में तेजी आई है। वहीं, वित्त मंत्रालय का कहना है कि आत्मनिर्भर पैकेज के जारी करने और अनलॉक के तहत मिलने वाली रियायतों से अर्थव्यवस्था को रफ्तार मिली है।



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here